जॉनी जैकपॉट गेम्स

जॉनी जैकपॉट गेम्स

time:2021-10-28 02:19:00 फ्रैंकलिन टेंपलटन की छह बंद योजनाओं को मिले 15,776 करोड़ रुपये Views:4591

परिमच बनाम 1xbet जॉनी जैकपॉट गेम्स 10cric रूले,casumo जुआ,लियोवेगास साइन इन,lovebet सिनेमा,lovebet काम नहीं कर रहा है,lovebet जाम्बिया संपर्क नंबर,क्या ऑनलाइन बैकारेट गेम विश्वसनीय हैं,बैकारेट फ्रेंचाइजी,बैकारेट फूलदान बिक्री,भारत में कानूनी सट्टेबाजी,कैसीनो बी-बेट्स,कैसीनो वैंकूवर,क्लासिक रम्मी साइन अप कूपन कोड,क्रिकेट किट बैग,ई खेल क्षेत्र,विकास गेमिंग,फ़ुटबॉल ऑड्स सॉफ़्टवेयर,उत्पत्ति कैसीनो पंटा काना,बैकारेट ने कितना पैसा गंवाया,आईपीएल नया शेड्यूल,जैकपॉट यूएसए,लाइव लाठी टेबल,लॉटरी 06 2021,लॉटरी ज़ाबी,एनबीए क्लिपर्स बनाम ग्रिज़लीज़,पेपैल के साथ ऑनलाइन कैसीनो,ऑनलाइन पोकर कोस्टेनलोस एमआईटी फ्रींडन,पारिमैच इतिहास,3 . में पोकर,रियल कैश नेटवर्क,नियम हैमिल्टन,रम्मी वेरिएंट प्रश्नावली,स्लॉट मशीन कुंजी,खेल 650,स्पोर्ट्सबुक जॉब माल्टा,टेक्सास होल्डम मेंस,शीर्ष दस प्रतिष्ठित गेमिंग कंपनियां,यूरोपीय कप में आज रात फुटबॉल के लिए क्या खरीदें,एक्स पोकर APK,ऊंची स्टेटस,क्रिकेट buzz स्कोर,गोवा घूमने की जगह बताएं,ड्रैगन का शिकार,फुटबॉल हटेगी तू पापलीन दे,बेटा विवाह गीत,लॉटरी निकाल, .फ्रैंकलिन टेंपलटन की छह बंद योजनाओं को मिले 15,776 करोड़ रुपये

फंड हाउस ने 23 अप्रैल को छह डेट म्यूचुअल फंड योजनाओं को बंद कर दिया था. इन आधा दर्जन फंडों का एसेट अंडर मैनेजमेंट करीब 25,000 करोड़ रुपये का था.
नई दिल्ली: फ्रैंकलिन टेंपलटन म्यूचुअल फंड ने शुक्रवार को कहा कि उसकी छह योजनाओं को अप्रैल 2020 में बंद होने के बाद से मैच्योरिटी, पूर्व भुगतान और कूपन भुगतान से 15,776 करोड़ रुपये मिले हैं.

फंड हाउस ने 23 अप्रैल को छह डेट म्यूचुअल फंड योजनाओं को बंद कर दिया था. इसके लिए डेट बाजार में लिक्विडिटी की कमी तथा लोगों द्वारा निकासी के दबाव का हवाला दिया गया था. इन आधा दर्जन फंडों का एसेट अंडर मैनेजमेंट (एयूएम) करीब 25,000 करोड़ रुपये का था.

ये योजनाएं 'फ्रैंकलिन इंडिया लो ड्यूरेशन फंड, फ्रैंकलिन इंडिया डायनेमिक एक्यूरल फंड, फ्रैंकलिन इंडिया क्रेडिट रिस्क फंड, फ्रैंकलिन इंडिया शॉर्ट टर्म इनकम प्लान, फ्रैंकलिन इंडिया अल्ट्रा शॉर्ट बॉन्ड फंड और फ्रैंकलिन इंडिया इनकम अपर्चुनिटीज फंड' हैं.

इसे भी पढ़ें: इनकम टैक्स भरने के लिए जारी हुआ नया आईटीआर फॉर्म, जानिए क्या हैं बदलाव

कंपनी ने अपने बयान में कहा, "छह योजनाओं को 31 मार्च, 2021 तक कुल 15,776 करोड़ रुपये का नकदी मिली है." इस साल 31 मार्च को समाप्त हुए पखवाड़े में इन योजनाओं को 505 करोड़ रुपये मिले हैं.

फंड हाउस ने कहा कि फ्रैंकलिन इंडिया इनकम ऑपर्चुनिटीज फंड ने अपने सभी बकाया उधारी को चुका दिया है. इस तरह अब सभी छह योजनाएं नकदी के हिसाब से सकारात्मक हो गई हैं और इनके पास 1,370 करोड़ रुपये का फंड बचा हुआ है.




हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें.

टॉपिक

फ्रैंकलिन टेंमपलटन म्यूचुअल फंडफ्रैंकलिन टेंमपलटन डेट म्यूचुअल फंडसेबीशेयर बाजारफ्रैंकलिन टेंमपलटनम्यूचुअल फंड्सफ्रैंकलिन टेंमपलटन डेट फंडफ्रैंकलिन टेंमपलटन की बंद स्कीमें

ETPrime stories of the day

As Christmas nears, China’s biggest shipper says there’s no end in sight for supply-chain crisis
Logistics

As Christmas nears, China’s biggest shipper says there’s no end in sight for supply-chain crisis

4 mins read
China’s hypersonic missile test may be targeted at the US and the West. But India should be worried.
R&D

China’s hypersonic missile test may be targeted at the US and the West. But India should be worried.

9 mins read
As drones take off under fresh rules, insuring their flight still has a host of teething troubles
Insurance

As drones take off under fresh rules, insuring their flight still has a host of teething troubles

11 mins read

आपको अपनी स्किल्‍स का पैसा मिलता है. इस बात का पता करें कि आप जैसी स्किल रखने वाले लोगों को बाहर कितनी सैलरी मिल रही है.विशेषज्ञों का कहना है कि औद्योगिक कमोडिटीज में निवेश से सोने के मुकाबले बढ़िया रिटर्न मिल सकता हैनिवेश की शुरुआत करने जा रहे हैं? जानिए कैसे उठाएं एक-एक कदम

जब संस्‍थान में किसी कर्मचारी को नौकरी छोड़ने के लिए कहा जाता है तो वे आमतौर पर चौंक जाते हैं. लेकिन, कई मामलों में इसके संकेत पहले से मिलने लगते हैं. बात सिर्फ इतनी होती है कि कर्मचारी इन संकेतों का मतलब समझकर सुधार की दिशा में कदम नहीं उठा पाते हैं. आइए, यहां ऐसे ही कुछ संकेतों के बारे में जानते हैं.महामारी से पहले की तुलना में मजदूरी 450-500 रुपये से बढ़कर 550-600 रुपये प्रति दिन हो गई है. वहीं, मजदूरों की उपलब्‍धता 70-75 फीसदी घटी है.मनी मार्केट म्यूचुअल फंडों के बारे में ये 5 बातें जान लें, होगा फायदा

ईटीएफ नए निवेशकों के लिए अच्‍छा विकल्‍प है. इसके लिए डीमैट अकाउंट की जरूरत होगी.अगर आप फुलटाइम घर से काम कर रहे हैं और आपकी कंपनी टेलीफोन, इंटरनेट, प्रिंटिंग और स्‍टेशनरी जैसे कुछ खर्चों को रीइंबर्स कर रही है तो आपको इन खर्चों पर टैक्‍स देने की जरूरत नहीं है.सैलरी और पर्क्‍स के पेमेंट के लिए कंपनियों ने शुरू किया क्रिप्‍टोकरेंसी का इस्‍तेमाल

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
गा क्रिकेट बल्ला

अगर आप फुलटाइम घर से काम कर रहे हैं और आपकी कंपनी टेलीफोन, इंटरनेट, प्रिंटिंग और स्‍टेशनरी जैसे कुछ खर्चों को रीइंबर्स कर रही है तो आपको इन खर्चों पर टैक्‍स देने की जरूरत नहीं है.

एक लवबेट

अगर आप फुलटाइम घर से काम कर रहे हैं और आपकी कंपनी टेलीफोन, इंटरनेट, प्रिंटिंग और स्‍टेशनरी जैसे कुछ खर्चों को रीइंबर्स कर रही है तो आपको इन खर्चों पर टैक्‍स देने की जरूरत नहीं है.

फुटबॉल ना

विशेषज्ञों का कहना है कि औद्योगिक कमोडिटीज में निवेश से सोने के मुकाबले बढ़िया रिटर्न मिल सकता है

जीमेल में नियम फ़ोल्डर में चले जाते हैं

चूंकि एफओएफ दूसरी म्‍यूचुअल फंड स्‍कीमों में निवेश करते हैं. लिहाजा, डुप्‍लीकेशन की कॉस्‍ट आ सकती है.

कैसिनो की रात

एक साल पहले इस फंड के अनुभवी मैनेजर ने इस्तीफा दिया. हालांकि, स्‍कीम की बागडोर मजबूत प्रबंधन के हाथों में है. निवेश के तरीके में कोई बड़ा बदलाव नहीं हुआ है.

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी