लाइव वेब गेम ऑनलाइन

Publishing time:2021-10-28 02:39:44

किशोर पत्ती पार्टी APK लाइव वेब गेम ऑनलाइन 10cric बोनस निकासी,betway शून्य शर्त,लेवेगास जैमिन जार,lovebet ऐप आईओएस,lovebet लकी 63,lovebet वाइनरी,एक पोकर खेल,बैकारेट क्रिस्टल कैंडलस्टिक्स,बैकारेट साइट,भारत में सट्टेबाजी कंपनियां,कैसीनो 4k,कैसीनो शू,क्लासिक रम्मी ऐप मुफ्त डाउनलोड,क्रिकेट जीके प्रश्न हिंदी में 2021,डीएच पोकर टेक्सास होल्डम,यूरोपीय कप स्पोर्ट्स लॉटरी,फुटबॉल चुंबन जाल,उत्पत्ति कैसीनो बोनस ओहने आइंज़ाहलुंग,एचडी स्लॉट,आईपीएल सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी,जैकपॉट मूवी डाउनलोड,लाइव लाठी fanduel,लाइव रूले परिणाम डेटा,मेरे पास लॉटरी टिकट,मेरी रम्मी क्लासिक लाइन,ऑनलाइन कैसीनो अंशकालिक नौकरी,ऑनलाइन प्रहार आर किताबें,पा लॉटरी,पोकर पासा नियम,पेशेवर लॉटरी वेबसाइट,शाही शादी,रम्मी जुनून,स्लॉट मशीन बिल सत्यापनकर्ता हैक,स्लॉटसरकडर ई,स्पोर्ट्सबुक बेट२५१,टेक्सास होल्डम निर्देश,परम बैकारेट किल,ऑनलाइन फुटबॉल खेल क्या हैं,विश्व प्रारंभिक अर्जेंटीना बनाम इंटेलिजेंस,इलेक्ट्रॉनिक खेल gaj,कैसीनो के खेल juta,गोल्ड के भगवान अनंत स्क्रॉल,जोकर लोगो,फुटबॉल पर 10 लाइन,बेटा ठाकुर ना गीत 2020,लॉटरी का रिजल्ट,स्पोर्ट्स न्यूज़ ऑफ़ टुडे .ओलावृष्टि से बासमती उत्पादकों को फसल का नुकसान, पर्याप्त मुआवजे की मांग की

http://img95.699pic.com/photo/40037/1647.jpg_wh300.jpg?67016

ओलावृष्टि से बासमती उत्पादकों को फसल का नुकसान, पर्याप्त मुआवजे की मांग की

जम्मू, 27 अक्टूबर (भाषा) जम्मू के धान का ‘कटोरा’ कहे जाने वाले क्षेत्र आरएस पुरा के किसान पिछले सप्ताह हुई भारी ओलावृष्टि की वजह से खड़ी फसल का नुकसान होने के बाद संकट में हैं। बासमती चावल उत्पादन के लिए लिए यह क्षेत्र अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जाना जाता है।

इस प्राकृतिक आपदा के तीन दिन बाद भी जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने अभी तक नुकसान के मुआवजे की घोषणा नहीं की है। राजस्व अधिकारी अभी भी धान को हुए नुकसान का आकलन कर रहे हैं।

जम्मू के बाहरी इलाके में बुधवार को अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास सुचेतगढ़ में क्षतिग्रस्त बासमती फसल के अपने खेत को साफ करते हुए मजदूरों के एक समूह के साथ खड़े 24 वर्षीय घरा सिंह ने कहा, ‘‘नुकसान 100 प्रतिशत है और किसान व्यथित हैं।’’

बासमती लंबे, पतले दाने वाले सुगंधित चावल की एक किस्म है, जिसने अंतरराष्ट्रीय बाजारों में आरएस पुरा को प्रसिद्ध किया है।

सिंह ने कहा कि उन्होंने अपने जीवन में इतनी विनाशकारी ओलावृष्टि नहीं देखी है।

उन्होंने प्रशासन से फसल क्षति सर्वेक्षण की प्रक्रिया में तेजी लाने और न्यूनतम मुआवजे की घोषणा करने का अनुरोध करते हुए कहा, ‘‘हम चिंतित हैं क्योंकि सरकार ने अभी तक उन किसानों को मुआवजे के मुद्दे पर कोई फैसला नहीं किया है।’’ उन्होंने प्रत्येक परिवार को 15,000 प्रति कनाल का मुआवजा देने की घोषणा करने की मांग की।

एक अन्य किसान शेर सिंह ने कहा कि उन्हें इस बार बेहतर उपज की उम्मीद थी लेकिन अचानक हुई ओलावृष्टि ने उनके सपने धो दिए।

जिला विकास परिषद (डीडीसी) के सुकेतगढ़ के सदस्य तरनजीत सिंह टोनी ने उपराज्यपाल मनोज सिन्हा के नेतृत्व वाले प्रशासन से इस साल फसल का नुकसान झेलने वाले किसानों को मुआवजा देने के लिए दिल्ली सरकार के मॉडल का पालन करने का आग्रह किया। दिल्ली सरकार ने हाल ही में इस साल अपनी फसल गंवाने वाले किसानों को 50,000 रुपये प्रति हेक्टेयर देने की घोषणा की थी।

टोनी ने प्रशासन से किसान क्रेडिट कार्ड ऋण और पानी के पंपों पर लगने वाले किराये को माफ करने का आग्रह किया। ।

जम्मू के अलावा, ओलावृष्टि ने सांबा और कठुआ जिलों में खड़ी फसलों को भी नुकसान पहुंचाया है।

इस बीच, पूर्व मंत्री मनोहर लाल शर्मा के नेतृत्व में कांग्रेस के दर्जनों कार्यकर्ताओं ने बुधवार को कठुआ के उपायुक्त कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया और प्रभावित किसानों को तत्काल मुआवजा देने की मांग की।

कांग्रेस प्रवक्ता के अनुसार, ‘‘यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि सरकार उन किसानों की समस्याओं पर कोई ध्यान नहीं दे रही है, जिनकी खड़ी फसल जम्मू क्षेत्र में भारी बारिश और ओलावृष्टि से नष्ट हो गई।’’

(This story has not been edited by economictimes.com and is auto–generated from a syndicated feed we subscribe to.)
(This story has not been edited by economictimes.com and is auto–generated from a syndicated feed we subscribe to.)

ETPrime stories of the day

As Christmas nears, China’s biggest shipper says there’s no end in sight for supply-chain crisis
Logistics

As Christmas nears, China’s biggest shipper says there’s no end in sight for supply-chain crisis

4 mins read
China’s hypersonic missile test may be targeted at the US and the West. But India should be worried.
R&D

China’s hypersonic missile test may be targeted at the US and the West. But India should be worried.

9 mins read
As drones take off under fresh rules, insuring their flight still has a host of teething troubles
Insurance

As drones take off under fresh rules, insuring their flight still has a host of teething troubles

11 mins read
ओलावृष्टि से बासमती उत्पादकों को फसल का नुकसान, पर्याप्त मुआवजे की मांग की

नयी दिल्ली, 27 अक्टूबर (भाषा) निवेश कंपनी समारा कैपिटल, हैवेल्स फैमिली इन्वेस्टमेंट ऑफिस और गोदरेज फैमिली इनवेस्टमेंट ऑफिस ने बुधवार को एक नई स्वास्थ्य देखभाल कंपनी 'मारेंगो एशिया हेल्थकेयर' की स्थापना की घोषणा की। यह मंच देश में मल्टीस्पेशियल्टी अस्पतालों का संचालन करेगा। एक बयान के अनुसार इन तीनों कंपनियों ने मिलकर इस मंच की स्थापना की है। यह देशभर में मल्टीस्पेशियल्टी अस्पतालों की श्रृंखला का परिचालन करेगा। बयान के अनुसार इस अस्पताल श्रृंखला का उद्देश्य देश में वैश्विक विशेषज्ञता लाना और नैदानिक साझेदारी बनाने पर ध्यान केंद्रित करना है। इन तीनों कंपनियों ने हालांकि मारेंगो एशिया हेल्थकेयरडिजिटल इकनॉमी में नए टैलेंट की जरूरत होगी. आइए, यहां टॉप रिक्रूटमेंट फर्मों से उन स्किल्‍स के बारे में जानते हैं जो सबसे ज्‍यादा डिमांड में हैं.नेशनल रिटेल पॉलिसी से 4 साल में पैदा होंगी 30 लाख नौकरियां : सीआईआई

नयी दिल्ली, 27 सितंबर (भाषा) डाबर इंडिया लिमिटेड ने अपनी शिशु देखभाल उत्पाद श्रृंखला का विस्तार करते हुए डायपर श्रेणी में प्रवेश करने की घोषणा की है एक संयुक्त बयान के अनुसार डाबर के 'बेबी सुपर पैंट्स' डायपर को 'बिग सेल डे' वाले दिन ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट पर पेश किया जाएगा। डाबर इंडिया के ई-कॉमर्स कारोबार प्रमुख स्मर्थ खन्ना ने कहा, ‘‘हमारा प्रयास लगातार रहा है कि हम अपने ग्राहकों को कुछ नया और अलग दें। हम इस उत्पाद को लेकर उत्साहित हैं।’’ फ्लिपकार्ट के वरिष्ठ उपाध्यक्ष (सौंर्दय, सामान्य सामान एवं होम) मनीष कुमार ने कहा, ’’शिशु देखभालसर्वे में 20 से ज्‍यादा इंडस्‍ट्रीज की 1,200 कंपनियों की प्रतिक्रिया ली गई. इनमें से 1,000 ने इस साल वेतनवृद्धि के लिए कहा है.म्यामां में अपने निवेश से बाहर निकलेगी अडाणी पोर्ट्स

देश में क्रिप्‍टोकरेंसी को लेकर स्थिति बहुत साफ नहीं है. कर्मचारी और कंपनियां दोनों इसे लेकर टैक्‍स के बारे में चिंतित हैं.देश में क्रिप्‍टोकरेंसी को लेकर स्थिति बहुत साफ नहीं है. कर्मचारी और कंपनियां दोनों इसे लेकर टैक्‍स के बारे में चिंतित हैं.सैलरी के इन कंपोनेंट को समझ लें तो टैक्‍स बचत में होगी आसानी

स्रोत: Nanfang Daily Online    Editor in charge: hit


एस्पोर्ट्स वेलोरेंट
आईपीएल आगामी मैच
एक शतरंज चाल
फ़ुटबॉल सट्टेबाजी साइट पर खाता खोलें
फ़ुटबॉल रील
परिमच एन
पोकर 360
बैकारेट खेलने का अनुभव
lovebet 1 मिलियन
lovebet ब्राजील में अच्छा है
वर्चुअल क्रिकेट लीग क्या है
पूल रम्मी काम नहीं कर रहा
यस्टरडे लॉटरी रिजल्ट
बीएच फुटबॉल
एक माँ होने के नाते बोली
cricket उच्चारण
जैकेट ब्लाउज
लॉटरी कैसे खेलें
छोटे लॉटरी संगबाद
lovebet गेम्स हैक
लूडो जावा गेम
ऑनलाइन स्लॉट युकोन गोल्ड
स्लॉट मशीन की मरम्मत
सट्टेबाजी की खबर
एस्पोर्ट्स क्विज
क्लासिक रम्मी वेबलॉग
lovebet 3 तरह से बाधा