बैकारेट कभी ईवा स्टिक

बैकारेट कभी ईवा स्टिक

time:2021-10-28 03:04:31 मुझे रिटायरमेंट के लिए 19 साल में ₹1.24 करोड़ जुटाने हैं, कैसे प्लानिंग करूं? Views:4591

बैकारेट बी फूल हार बैकारेट कभी ईवा स्टिक 188bet थाई,fun88 बोला लाइव,lovebet 288 क्रिकेट,lovebet गेम्स,lovebet श ऐप एंड्रॉइड,lovebetएमएक्स,बैकारेट 540 तेल,बैकारेट लोगो,सबसे अच्छा पांच इंच का स्मार्टफोन,लाठी लाइव truccato,कैसीनो गोल्ड कोस्ट,शतरंज 1kg कीमत,क्रिकेट 7 नेट,क्रिकेट टाइम टेबल,एस्पोर्ट्स फिलीपींस,फुटबॉल 66,फुटबॉलर पी के बनर्जी,है कैसीनो,mpl . में पॉइंट रम्मी कैसे खेलें,क्या ऑनलाइन बैकारेट असली है?,कश्मीर क्रिकेट बल्ले,लाइव कैसीनो ऑनलाइन असली पैसा,लॉटरी फ़्लो,लूडो ओपन,ऑनलाइन खाता खोलने की जमा राशि,ऑनलाइन गेम विचार,ऑनलाइन स्लॉट मशीन,3 रील स्लॉट मुफ्त ऑनलाइन खेलें,पोकर ता समा पर:,रूले डिजाइन,रम्मी 45,रम्मीकल्चर काम नहीं कर रहा,स्लॉट 4 राजा,खेल आधा निचला,टी लॉटरी नंबर,सबसे अच्छा टेक्सास होल्डम,हमें कैसीनो ऑनलाइन असली पैसा,बैकारेट में से कौन सबसे अच्छा करता है?,betway खेल,ऑनलाइन बैकरेट गेम,क्रिकेट छोटे बच्चों का,घड़ी lottery.com,तीन फुटबॉल सट्टेबाजी कंपनियां,बरसात एप्स,माफिया,स्टेटस की शायरी, .मुझे रिटायरमेंट के लिए 19 साल में ₹1.24 करोड़ जुटाने हैं, कैसे प्लानिंग करूं?

लक्ष्य नजदीक आने पर जोखिम घटा दें ताकि उसके चूकने का खतरा नहीं रहे.
कई निवेशक अपने निवेश को लेकर आश्वस्त नहीं रहते हैं. उनके मन में कई सवाल चलते रहते हैं. मसलन-क्या उन्होंने सही जगह निवेश किया है? क्या उनका पोर्टफोलियो सही दिशा में बढ़ रहा है? ईटी के पोर्टफोलियो डॉक्टर निवेशक के पोर्टफोलियो के स्वास्थ्य का निरीक्षण कर सही सलाह देते हैं.

पोर्टफोलियो डॉक्टर निवेशकों की स्कीम का विश्लेषण करते हैं. उसके बाद बताते हैं कि क्या ये स्कीमें उनके लक्ष्य तक पहुंचने में उनकी मदद कर सकती हैं या नहीं. जरूरत पड़ने पर वे सही उपचार भी बताते हैं. उनकी सलाह फंड्स के प्रदर्शन, निवेशक की जोखिम क्षमता और वित्तीय लक्ष्य पर आधारित होती है.

केस 1 : आदित्य सेन बेटे के लक्ष्‍यों के साथ अपने रिटायरमेंट के लिए बचत कर रहे हैं. वह अपने रिटायरमेंट के लिए 19 साल में 1.24 करोड़ रुपये जुटा लेना चाहते हैं. आइए, देखते हैं कि डॉक्टर ने उन्‍हें क्‍या सलाह दी है.

इसे भी पढ़ें : कैसा है फ्रैंकलिन इंडिया इक्विटी एडवांटेज फंड का 5 साल का रिपोर्ट कार्ड?

लक्ष्य
master

निवेश पोर्टफोलियो
master1

पोर्टफोलियो चेक-अप
- पिछले 1-2 साल से इक्विटी फंडों में निवेश कर रहे हैं.
- चुनी गई सभी स्‍कीमें अच्छी हैं. लेकिन, निवेश बढ़ाने की जरूरत है.
- लक्ष्‍यों तक पहुंचने के लिए हर साल सिप की रकम 10 फीसदी बढ़ानी होगी.
- फंडों के अलावा हर महीने शेयरों में भी सीधे निवेश करें.
- इंश्‍योरेंस प्‍लान और चाइल्‍ड यूलिप भी होल्ड करें.
- सेविंग बैंक में काफी पैसा यूं ही पड़ा है. रेकरिंग डिपॉजिट से रिटर्न पूरी तरह टैक्सेबल है.

डॉक्टर का नोट
- इंश्‍योरेंस पॉलिसी में निवेश नहीं करें. रिटर्न बहुत कम हैं.
- रेकरिंग डिपॉजिट पूरी तरह टैक्सेबल हैं. बजाय इसके डेट फंडों को चुनें.
- यूलिप खरीदते वक्त प्रमुख लक्ष्‍यों के साथ मैच्‍योरिटी को अलाइन करें.
- साल में कम से कम एक बार निवेश की समीक्षा जरूर करें और उसे दोबारा बैलेंस करें.
- लक्ष्य नजदीक आने पर जोखिम घटा दें ताकि उसके चूकने का खतरा नहीं रहे.

इसे भी पढ़ें : इन 7 कारणों से पीपीएफ है सबसे पसंदीदा टैक्‍स सेविंग विकल्‍पों में से एक

केस 2 : दीपक सिरोही बच्‍चे की शिक्षा और अपने रिटायरमेंट के लिए बचत कर रहे हैं. आइए, जानते हैं कि डॉक्टर ने उन्‍हें क्‍या सलाह दी है.

लक्ष्य
master2

निवेशक का पोर्टफोलियो
master3

पोर्टफोलियो चेक-अप
- पिछले 2-3 साल से इक्विटी फंडों में निवेश कर रहे हैं.
- लक्ष्य महत्वाकांक्षी हैं और मासिक निवेश में बड़ी बढ़ोतरी की जरूरत होगी.
- सिप की भी रकम हर साल 10 फीसदी बढ़ानी होगी.
- साल में कम से कम एक बार निवेश की समीक्षा जरूर करें और उसे दोबारा बैलेंस करें.
- लक्ष्य करीब आने पर जोखिम घटा दें ताकि उसके चूकने का खतरा नहीं रहे.

इस कैलकुलेशन में माना गया है कि
- शिक्षा खर्च हर साल 10 फीसदी बढ़ेगा.
- अन्य लक्ष्यों के लिए महंगाई दर को 7 फीसदी रखा गया है.

रिटर्न
- इक्विटी से रिटर्न को 12 फीसदी रखा गया है.
- डेट से रिटर्न को 8 फीसदी रखा गया है.

इन पोर्टफोलियो की समीक्षा माईमनी मंत्रा के एमडी और संस्‍थापक राज खोसला ने की है.

पैसे कमाने, बचाने और बढ़ाने के साथ निवेश के मौकों के बारे में जानकारी पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज पर जाएं. फेसबुक पेज पर जाने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें
(Disclaimer: The opinions expressed in this column are that of the writer. The facts and opinions expressed here do not reflect the views of www.economictimes.com.)

टॉपिक

RETIREMENT PLANNINGरिटायरमेंट प्‍लानिंगबच्‍चों के लक्ष्‍यप्‍लानिंगरिटायरमेंटनिवेश पोर्टफोलियोपोर्टफोलियो डॉक्‍टर

ETPrime stories of the day

Partying the Nolo way: New-age brands are offering choices beyond Pepsi and Coca-Cola
FMCG

Partying the Nolo way: New-age brands are offering choices beyond Pepsi and Coca-Cola

10 mins read
As airlines inch back to normalcy, vacant middle seats are a cause of worry
Recent hit

As airlines inch back to normalcy, vacant middle seats are a cause of worry

11 mins read
Skill or chance? The USD7 billion question that can make or break India’s online gaming industry.
Policy and regulations

Skill or chance? The USD7 billion question that can make or break India’s online gaming industry.

12 mins read

नितिन गडकरी 1996—99 तक महाराष्ट्र में पीडब्ल्यूडी मंत्री भी रहे हैं। इस दौरान 1998 में मुंबई—पूना एक्सप्रेस वे पर काम शुरू हुआ था।बेटी की शिक्षा और शादी के लिए माता-पिता पैसा जोड़ पाएं, इस मकसद के साथ यह स्‍कीम लॉन्‍च की गई थी.ओएनजीसी के शेयरों में क्‍यों निवेश की सलाह दे रहे हैं विश्लेषक?

बेहतर और सरल रिटर्न के लिए निवेशक साधारण प्रोडक्ट्स का रुख कर रहे हैं. सरकार ने अप्रैल-जून तिमाही में ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है.नयी दिल्ली, 27 अक्टूबर (भाषा) रियल्टी कंपनी यूनिटेक लिमिटेड ने अशोक कुमार यादव को कंपनी का मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) नियुक्त किया है। कंपनी ने बुधवार को यह जानकारी दी। यादव (65) हरियाणा कैडर के सेवानिवृत्त भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) के अधिकारी हैं। यूनिटेक ने शेयर बाजार को दी जानकारी में बताया कि कंपनी के निदेशक मंडल ने मुख्य परिचालन अधिकारी (सीओओ) अशोक कुमार यादव को यूनिटेक समूह का सीईओ नियुक्त किया है। यह नियुक्ति तत्काल प्रभाव से की गई है।सीवीई नंबरिंग अथॉरिटी के रूप में सीईआरटी-इन अधिकृत

सुकन्या समृद्धि स्‍कीम में बेटी के जन्‍म के बाद उसके नाम पर खाता खुलवाया जा सकता है. उसके 10 साल का होने तक ऐसा किया जा सकता है.मुंबई, 27 अक्टूबर (भाषा) देश का विदेशी मुद्रा भंडार अप्रैल-सितंबर, 2021 के दौरान 58.38 अरब डॉलर बढ़कर 635.36 अरब डॉलर पर पहुंच गया। रिजर्व बैंक की बुधवार को जारी रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है। मार्च, 2021 के अंत तक विदेशी मुद्रा भंडार 576.98 अरब डॉलर था। रिजर्व बैंक विदेशी मुद्रा भंडार प्रबंधन पर छमाही रिपोर्ट प्रकाशित करता है। बुधवार को जारी रिपोर्ट इस श्रृंखला में 37वीं रिपोर्ट है। समीक्षाधीन छमाही यानी सितंबर, 2021 के अंत तक विदेशी मुद्रा भंडार बढ़कर 635.36 अरब डॉलर पर पहुंच गया। मार्च, 2021 के अंत तक यह 576.98 अरब डॉलर था।मुझे महीने में 40,000 रुपये म्‍यूचुअल फंडों में निवेश करना है, किन स्‍कीमों में लगाऊं?

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
कौन सा बैकारेट फोरम सबसे अच्छा है

नयी दिल्ली, 27 अक्टूबर (भाषा) बाजार नियामक सेबी ने अधिक मतदान अधिकार वाले शेयर जारी करने से संबंधित नियमों में ढील दी है। इस कदम से आधुनिक प्रौद्योगिकी आधारित कंपनियों को मदद मिलेगी। भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने कहा कि 1,000 करोड़ रुपये से अधिक नेटवर्थ वाले प्रवर्तकों के पास अपनी कंपनियों में अधिक मतदान का अधिकार हो सकता है। इसे मौजूदा 500 करोड़ रुपये से बढ़ाकर 1,000 करोड़ रुपये किया गया है। सेबी ने मंगलवार को एक अधिसूचना में कहा, ‘‘अधिक मतदान अधिकार वाले शेयरधारकों का नेटवर्थ पंजीकृत मूल्यांककों द्वारा निर्धारित 1,000 करोड़ रुपये से अधिक नहीं होगा।’’

यूपी में स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी

नयी दिल्ली, 27 अक्टूबर (भाषा) बाजार नियामक सेबी ने अधिक मतदान अधिकार वाले शेयर जारी करने से संबंधित नियमों में ढील दी है। इस कदम से आधुनिक प्रौद्योगिकी आधारित कंपनियों को मदद मिलेगी। भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने कहा कि 1,000 करोड़ रुपये से अधिक नेटवर्थ वाले प्रवर्तकों के पास अपनी कंपनियों में अधिक मतदान का अधिकार हो सकता है। इसे मौजूदा 500 करोड़ रुपये से बढ़ाकर 1,000 करोड़ रुपये किया गया है। सेबी ने मंगलवार को एक अधिसूचना में कहा, ‘‘अधिक मतदान अधिकार वाले शेयरधारकों का नेटवर्थ पंजीकृत मूल्यांककों द्वारा निर्धारित 1,000 करोड़ रुपये से अधिक नहीं होगा।’’

lovebet दा पारा गंहर दिनहिरो

नयी दिल्ली 27 अक्टूबर (भाषा) निजी क्षेत्र के इंडसइंड बैंक ने बुधवार को बताया कि चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में उसका एकीकृत शुद्ध लाभ 73 प्रतिशत बढ़कर 1,146.73 करोड़ रुपये रहा। इससे पिछले वित्त वर्ष इसी तिमाही के दौरान बैंक का शुद्ध लाभ 663.08 करोड़ रुपये था। इंडसइंड बैंक ने शेयर बाजार को दी सूचना में बताया कि तीस सितंबर, 2021 को समाप्त तिमाही में उसकी आय बढ़कर 9,488.06 करोड़ रुपये हो गई, जो पिछले वित्त वर्ष की इसी तिमाही के दौरान 8,731.52 करोड़ रुपये थी। इस अवधि के दौरान बैंक की ब्याज से आय भी बढ़कर

फुटबॉल फोरम

समय गुजरने के साथ उन्‍हें इक्विटी में निवेश कम कर देना चाहिए. इसके बजाय धीरे-धीरे डेट फंडों की ओर रुख करना चाहिए.

पोकर चेहरा क्या है

चूंकि एफओएफ दूसरी म्‍यूचुअल फंड स्‍कीमों में निवेश करते हैं. लिहाजा, डुप्‍लीकेशन की कॉस्‍ट आ सकती है.

संबंधित जानकारी
बैकारेट सदस्य खाता खोलना

नयी दिल्ली, 27 अक्टूबर (भाषा) बाजार नियामक सेबी ने अधिक मतदान अधिकार वाले शेयर जारी करने से संबंधित नियमों में ढील दी है। इस कदम से आधुनिक प्रौद्योगिकी आधारित कंपनियों को मदद मिलेगी। भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने कहा कि 1,000 करोड़ रुपये से अधिक नेटवर्थ वाले प्रवर्तकों के पास अपनी कंपनियों में अधिक मतदान का अधिकार हो सकता है। इसे मौजूदा 500 करोड़ रुपये से बढ़ाकर 1,000 करोड़ रुपये किया गया है। सेबी ने मंगलवार को एक अधिसूचना में कहा, ‘‘अधिक मतदान अधिकार वाले शेयरधारकों का नेटवर्थ पंजीकृत मूल्यांककों द्वारा निर्धारित 1,000 करोड़ रुपये से अधिक नहीं होगा।’’

गरम जानकारी