lovebet 383

Publishing time:2021-10-21 06:39:13

cricket विषयी माहिती lovebet 383 188bet बेटफ़ोर्टुना,casumo समाचार,leovegas यूट्यूब,lovebet विवरण,3 कोनों से अधिक की lovebet अर्थ,lovebet.d,एयू फुटबॉल शेड्यूल,बैकरेट गेमप्ले और कौशल,बैकारेट अधिक जीतता है और कम रणनीति खो देता है,सट्टेबाजी उद्धरण,कैसीनो डी'आर्कचोन,कैसीनो येलोहेड,कॉम.शतरंज एपीके मोड,क्रिकेट खबर आज,ई-स्पोर्ट्स बार केसी,फंतासी फुटबॉल लॉटरी बॉल मशीन,फुटबॉल वेतन रैंकिंग,जीएच फुटबॉल,बैकारेट गेम मशीनों को कैसे धोखा दें,आईपीएल t2 0 क्रिकेट लाइव,जेबी लवबेट,लाइव कैसीनो धोखा,लॉटरी 649,लूडो बार गेम,नया कार्ड गेम डाउनलोड,ऑनलाइन फुटबॉल एजेंट,ऑनलाइन पोकर क्यूबेक,परिमच नया संस्करण,टेक्सास होल्डम की तरह पोकर,रील स्लॉट बोली,तिहाई का नियम,रम्मी जिंगा,स्लॉट मशीन मनोविज्ञान,भारतीय खेल प्राधिकरण,स्पोर्ट्सबुक पेआउट कैलकुलेटर,टेक्सास होल्डम असली पैसा ऑनलाइन,ट्राई शतरंज सेट,ऑनलाइन बेटिंग नेटवर्क कहां है,योट्टा लीवेगास,ऑनलाइन गेम्स कार,क्रिकेट matches,गोवा तो दिल्ली फ्लाइट,तीन पत्ती ऑनलाइन गेम डाउनलोड,बकरा चोरी,बेताब भाषा,वन बॉल मल्टीप्लेयर संस्करण, .अगले साल 87% कंपनियां बढ़ाएंगी वेतन : सर्वे

http://img95.699pic.com/photo/40037/1647.jpg_wh300.jpg?67016

अगले साल 87% कंपनियां बढ़ाएंगी वेतन : सर्वे

सर्वे के अनुसार, घरेलू बाजार में काम कर रही कंपनियों ने इस साल कर्मचारियों के वेतन में औसत 6.1 फीसदी की वृद्धि की.
नई दिल्ली : भारत में काम करने वाली करीब 87 फीसदी कंपनियां 2021 में कर्मचारियों का वेतन बढ़ाने की योजना बना रही हैं. इसके मुकाबले 2020 में करीब 71 फीसदी कंपनियों ने ही वेतन में वृद्धि की. ग्‍लोबल प्रोफेशनल सर्विसेज फर्म एओन के सर्वे से इसका पता चलता है.

सर्वे के अनुसार, कोरोना संकट से प्रभावित अर्थव्यवस्था के दौर में घरेलू बाजार में काम कर रही कंपनियों ने इस साल कर्मचारियों के वेतन में औसत 6.1 फीसदी की वृद्धि की. यह पिछले एक दशक में सबसे निचला स्तर है. हालांकि, अगले साल औसत वेतनवृद्धि 7.3 फीसदी रहने का अनुमान है.

इसे भी पढ़ें : घर खरीदने के लिए क्‍या यह सबसे अच्‍छा समय है?

एओन की बुधवार को जारी सर्वे रिपोर्ट में कहा गया है कि देश में काम करने वाली कंपनियों ने कोविड-19 से जुड़ी चुनौतियों के बावजूद लचीलारुख दिखाया है. 2020 में करीब 71 फीसदी कंपनियों ने वेतन में वृद्धि की. जबकि 2021 में 87 फीसदी कंपनियां वेतनवृद्धि करने के पक्ष में हैं.

सर्वे के मुताबिक, भारत में औसत वेतनवृद्धि 2020 में 6.1 फीसदी रही. यह 2009 के 6.3 फीसदी के औसत से भी नीचे है. एओन के 'सैलरी ट्रेंड्स सर्वे इन इंडिया' में कहा गया है कि अगले साल कंपनियां वेतन में औसत 7.3 फीसदी की वृद्धि करेंगी. एओन ने इसके लिए 20 से अधिक इंडस्‍ट्रीज की 1,050 कंपनियों के बीच सर्वे किया था.

सितंबर-अक्टूबर 2020 की स्थिति तक 87 फीसदी कंपनियों ने 2021 में वेतनवृद्धि देने की प्रतिबद्धता जताई. जबकि इसमें 61 फीसदी कंपनियों ने कहा कि वे पांच से 10 फीसदी की वेतनवृद्धि देंगी.

इसे भी पढ़ें : होम लोन की मांग बढ़ने से बैंकों में छिड़ी ब्‍याज दर घटाने की जंग

वर्ष 2020 में 71 फीसदी कंपनियों ने वेतनवृद्धि दी. इसमें से 45 फीसदी ने पांच से 10 फीसदी के बीच वेतनवृद्धि दी. एओन में पार्टनर और सीईओ (परफॉर्मेंस एंड रिवॉर्ड सॉल्‍यूशंस) नितिन सेठी ने कहा, ''यह एक अनोखा साल है. कंपनियां अपने कर्मचारियों और ग्राहकों में निवेश कर रही हैं. कोविड-19 के गहरे असर के बावजूद कंपनियों ने कर्मचारियों को लेकर परिपक्‍व और लचीला रुख दिखाया है.''

हाई-टेक, आईटी, आईटीईएस, लाइफ साइंसेज, ई-कॉमर्स, केमिकल्‍स और प्रोफेशनल सर्विसेज ऐसे सेक्‍टरों में हैं जिनमें सबसे ज्‍यादा वेतनवृद्धि होने के आसार हैं.

हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें.

टॉपिक

वेतनवृद्धिसैलरी ट्रेंड्स सर्वे इन इंडियाकंपन‍ियांएओनसैलरी में बढ़ोतरीसर्वे

ETPrime stories of the day

Why Rivigo, which hired from all sectors, is zeroing in on seasoned logistics hands for its revival
Recent hit

Why Rivigo, which hired from all sectors, is zeroing in on seasoned logistics hands for its revival

11 mins read
Financing is still a blind spot for EVs. Can Ola Electric be the game changer?
Electric vehicles

Financing is still a blind spot for EVs. Can Ola Electric be the game changer?

10 mins read
Kisan Credit Card is critical for agriculture. But can the scheme overcome the challenges?
Agriculture

Kisan Credit Card is critical for agriculture. But can the scheme overcome the challenges?

7 mins read
अगले साल 87% कंपनियां बढ़ाएंगी वेतन : सर्वे

सक्रिय रूप से मैनेज किए जाने वाले लार्ज कैप म्‍यूचुअल फंड के तौर-तरीकों का पिछले कुछ सालों में सभी को पता लग गया है. कुछ को छोड़ ज्यादातर स्कीमों ने प्रमुख सूचकांकों से कमतर प्रदर्शन किया है.अच्‍छे ब्रांड से दो साल का एमबीए मार्केट की बदली हुई स्थितियों में काफी फायदेमंद साबित हो सकता है. एमबीए की डिग्री आपको विश्‍वसनीयता हासिल करने में मदद करती है. फिर चाहे आपने किसी भी सेक्‍टर में काम किया हो.वित्त वर्ष 2020-21 में गोल्ड ईटीएफ में निवेश चार गुना बढ़ा

शेयरों में निवेश से जुड़े जोखिम के अलावा इंटरनेशनल फंड में निवेश से करेंसी का जोखिम भी जुड़ा होता है. दूसरे देश की मुद्रा के मुकाबले रुपये में कमजोरी और मजबूती का असर आपके रिटर्न पर पड़ता है.बाजार नियामक सेबी ने एक्सपेंस रेशियो की सीमा तय की हुई है. ओपन एंडेड इक्विटी स्कीम के एयूएम के आधार पर सेबी ने विभिन्न स्‍लैब बनाए हैं.वित्तीय लक्ष्‍यों तक जल्दी पहुंचने के लिए इक्विटी या डेट फंड में से किसमें निवेश करें?

यूनिट लिंक्ड इंश्‍योरेंस प्‍लान यानी यूलिप और म्यूचुअल फंड कई मायनों में अलग होते हैं. यह और बात है कि कई लोग इन्‍हें एक जैसा प्रोडक्ट समझने की भूल कर बैठते हैं. आपको भी अगर ऐसी गलतफहमी है तो यहां हम इन दोनों के बीच कुछ महत्वपूर्ण अंतरों के बारे में बता रहे हैं.जून में कर्मचारी राज्‍य बीमा स्‍कीम (ईएसआईसी) से जुड़ने वाले मेंबर्स की संख्‍या में भी तेज इजाफा हुआ है.प्राइम इंवेस्टर ने निवेशकों को फ्रैंकलिन की सभी स्कीमों से निकलने की दी सलाह

स्रोत: Nanfang Daily Online    Editor in charge: hit


लॉटरी मालामाल
बैकारेट विले
पोकर 888
टेक्सास होल्डम पोकर i
लाइव कैसीनो सट्टेबाजी यूआरएल
कॉमोन बेटिंग ऐप डाउनलोड
6+ पोकर हाई कार्ड
फुटबॉल भेजिए
lovebetडक
ऑनलाइन पोकर सर्वोत्तम साइटें
जुआ वेबसाइट एजेंट
रामी रेड्डी
खेल 777
टेक्सास होल्डम कोई सीमा नहीं
स्लॉट 18+
अंक रम्मी डाउनलोड
लूडो प्रीमियम
खुश किसान उत्तर अमेरिका
गर्व 2 कैसीनो
लॉटरी हांगकांग
शासन बहुमत
स्पोर्ट्स फुटबॉल
ओ खेल लोगो
पोकरस्टार्स
स्पोर्ट्सबुक विलियम हिल
lovebet भारत में सुरक्षित है
नियम परेतो